Nikola Tesla's biography in hindi || निकोला टेस्ला की पूरी कहानी (Part 2)

Nikola Tesla's biography in hindi || निकोला टेस्ला की पूरी कहानी (Part 2)


Nikola Tesla 

.............अब शुरू होती है निकोला टेस्ला ( Nikola Tesla) के जिंदगी की वह कहानी जिसमें उन्होंने चौका देने वाले अविष्कार किए। उनके और एडिशन के बीच में छिड़ी "करंट वार"। एडिशन की कंपनी छोड़ने के बाद टेस्ला ने उन सारे अविष्कारों को पेटेंट करवाने का काम शुरू किया जो उन्होंने एडिशन के साथ काम करते हुए किए थे। टेस्ला कुछ इन्वेस्टर्स से भी मिले। उनकी help से उन्होंने मार्च 1885 मे The TESLA electric light and manufacturing company की शुरुआत की। बाद में उनके इन्वेस्टर्स ने उनको धोखा दिया और एक दूसरी कंपनी बना ली। और टेस्ला की कंपनी से अलग हो गए।

1886 मे टेस्ला Alfred S Brown जो वेस्टर्न यूनियन के सुपरिटेंडेंट थे, और न्यूयॉर्क अटार्नी Charls F. Peck से मिले। उन लोगों के साथ मिलकर अप्रैल 1887 टेस्ला ने "टेस्ला इलेक्ट्रिक कंपनी" बनाई। अब AC इंडक्शन मोटर के सपने को साकार करने में रात दिन एक कर दिया टेस्ला ने। और एक दिन वह सपना पूरा हुआ और उन्होंने 1887 मे एक ऐसा इंडक्शन मोटर बनाया जो अल्टरनेटिंग करंट पर चलता था। 1888 मे जब George Westinghouse Jr. को इस बारे में पता चला की टेस्ला (TESLA) ने AC इंडक्शन मोटर को बना लिया है तो वह उनसे मिले। George Westinghouse Jr. अमेरिका के एक बड़े उद्योगपति थे जो कि पिट्सबर्ग पेंसिलवेनिया में रहते थे। George Westinghouse Jr. को लगता था की इलेक्ट्रिक डिस्ट्रीब्यूशन के लिए अल्टरनेटिंग करंट में ही अपार क्षमता है।George Westinghouse Jr. को टेस्ला के इंडक्शन मोटर की जरूरत थी। क्योंकि वह AC पावर सप्लाई यूज़ करते थे। उन्होंने टेस्ला को $54500 प्रति माह की फीस पर 1 साल के लिए एक कंसंट्रेट के तौर पर हायर किया। और इसके साथ ही टेस्ला को उनके इंडक्शन और मोटर ट्रांसफार्मर डिजाइन के लिए $60000 भी दिए।

टेस्ला के इस जिंदगी के इस मुकाम पर "करंट वार" का जिक्र ना हो तो यह कहानी अधूरी रहेगी।George Westinghouse Jr. एडिशन के बहुत बड़े प्रतिद्वंदी बन गए। क्योंकि वह AC सिस्टम की मार्केटिंग कर रहे थे और एडिशन DC सिस्टम की। एडिशन DC सिस्टम को AC सिस्टम से अच्छा तो नहीं बता सकते थे और इसीलिए उन्होंने George Westinghouse Jr. की कंपनी और उनके AC सिस्टम की नकारात्मक छवि बनाने की कोशिश की और AC सिस्टम को बेहद खतरनाक बताया। ऐसे लोगों के बीच जाकर जानवरों पर AC करंट इस्तेमाल करके यह दिखाया की यह कितनी खतरनाक थी। यह देखकर लोगों ने AC डिजाइन पर सवाल खड़े किए। शुरुआती दौर में AC करंट सप्लाई की वजह से कभी-कभी शॉर्ट सर्किट और आग भी लग जाया करती थी। जिसकी वजह से लोगों में डर बैठ गया था। एडिशन कोशिश करते रहे और George Westinghouse Jr. अपनी तरक्की के रास्ते पर चलते रहे। क्योंकि AC सिस्टम से होने वाले फायदे बहुत थे। उनका AC करंट DC करंट से काफी सस्ता भी था। एडिशन, घर में इस्तेमाल होने वाली बिजली को कम दामों पर और फैक्ट्री में इस्तेमाल होने वाली बिजली को ज्यादा दाम पर बेच रहे थे। जबकि George Westinghouse Jr. की कंपनी सबको समान दर पर बिजली दे रही थी।

 1890 मे न्यूयॉर्क स्टेट ने एडिशन से पूछा कि वह अपराधियों को सजा देने के लिए कोई नया तरीका बताएं। बदले की आग में जल रहे एडिशन ने उन अपराधियों के ऊपर, जिनको मौत की सजा मिली थी AC करंट का झटका दिलवाया। एडिशन के इस कदम से भी George Westinghouse Jr. के कंपनी की भी बहुत बदनामी हुई।

1890 मे टेस्ला ने "Tesla coil" का invention किया। "टेस्ला क्वायल" एक इलेक्ट्रिकल रिजोनेंट ट्रांसफॉर्मर सर्किट है, जिस का उपयोग हाई वोल्टेज , low करंट , हाई फ्रिकवेंसी अल्टरनेटिंग करंट को उत्पन्न करने के लिए किया जाता है। आज भी टेस्ला क्वायल का यूज़ होता है।

Tesla Coil

उस समय उनको लगता था कि वायरलेस कम्युनिकेशन भी संभव है। इससे दुनिया के एक कोने से दूसरे कोने तक हम बिना किसी वायर की मदद के बात कर सकते हैं। उन्होंने अल्टरनेटिंग करंट को और भी अच्छे तरीके से उत्पन्न करने के लिए steam power reciprocating electric generator भी डेवलप किया और इसको 1893 मे पेटेंट करवाया।

टेस्ला के बचपन का सपना था niagara falls से बिजली बनाने का। niagara falls से 225000 क्यूबिक फिट पानी हर सेकंड बहता है जो कि इतनी पावर पैदा करता है जिसको 200000 टन कोयला हर साल जलाने से मिलेगा। 1893 मे niagara falls की पावर से इलेक्ट्रिसिटी जेनरेट करने का काम टेस्ला की मदद से George Westinghouse Jr. इलेक्ट्रिक कंपनी को मिला। यह बहुत बड़ी उपलब्धि थी जिससे थॉमस अल्वा एडिसन को बहुत नुकसान हुआ। और इसी कारण एडिशन को उनकी खुद की कंपनी ने AC सिस्टम का विरोध करने के लिए उनको डायरेक्टर के पद से हटा दिया।
Naigara falls 

1896 मे टेस्ला ने एक विशाल इलेक्ट्रिक मोटर और जनरेटर को niagara falls में इंस्टॉल किया। और फिर शुरुआत हुई इलेक्ट्रिकल युग की जिसने अमेरिका के घर घर में रोशनी पहुंचा दी। और इसके साथ ही साथ एक नई औद्योगिक क्रांति की भी शुरुआत हुई। क्योंकि बड़ी-बड़ी मशीनें अल्टरनेटिंग करंट से चलाई जा सकती थी।

टेस्ला ने 1890 के बाद वायरलेस इलेक्ट्रिसिटी पर एक्सपेरिमेंट करना शुरू किया। मतलब इलेक्ट्रिसिटी को बिना किसी वायर के एक जगह से दूसरी जगह भेजना। टेस्ला इस प्रोजेक्ट पर काम करना चाहते थे लेकिन उनको इसके लिए लगभग $200000 की जरूरत थी। वह George Westinghouse Jr. के पास भी गए लेकिन George Westinghouse Jr. सिर्फ $6000 ही लगा सकते थे। टेस्ला बहुत से इन्वेस्टर्स के पास गए लेकिन सभी ने उस प्रोजेक्ट को समझा ही नहीं क्योंकि उनको यकीन नहीं हुआ कि ऐसा possible है। और इसलिए उन्होंने टेस्ला के प्रोजेक्ट में पैसे लगाने से इनकार कर दिया। लगभग 10 सालों तक टेस्ला लाइटिंग के उपर कई तरह के प्रयोग करते रहे और कोशिश करते रहे कि कैसे इलेक्ट्रिसिटी को बिना वायर के एक जगह से दूसरी जगह तक ट्रांसमिट किया जा सके। 1901 मे टेस्ला J P Morgan से मिले। जो उस समय अमेरिका के सबसे बड़े फाइनेंसर बिजनेसमैन थे। उन्होंने टेस्ला के प्रोजेक्ट में इस शर्त के साथ पैसे लगाने को कहा कि वह उनको इस वायरलेस पेटेंट से होने वाले प्रॉफिट में 51% की पार्टनरशिप देंगे। टेस्ला ने शर्त मान ली। 4 मार्च 1901 में जे पी मॉर्गन के साथ एक deal साइन की। जे पी मॉर्गन ने उनको डेढ़ लाख डॉलर दिए। उस समय के डेढ़ लाख डॉलर आज के करीब करीब 4412400 डॉलर होते हैं। टेस्ला ने काम शुरू किया और Shoreham, New York मे wardenclyffe tower बनाया।
Wardenclyffe tower 

इसी बीच जे पी मॉर्गन को यह पता चला की टेस्ला वायरलेस लाइटिंग के प्रोजेक्ट से दुनिया में मुफ्त की बिजली बांटना चाहते हैं। और यह जानकर उन्होंने इस प्रोजेक्ट में पैसे लगाने से मना कर दिया। इसके पीछे कारण यह था कि मुफ्त की बिजली से उनको कोई फायदा नहीं होता और energy इंडस्ट्री घाटे में चली जाती। इससे सीधा नुकसान उनके बिजनेस पर ही पड़ता। टेस्ला उनको पत्र लिखते रहें कि उनको और फंडिंग भेजें लेकिन मोरगन की तरफ से उनको कोई जवाब नहीं आया। किसी तरह से टेस्ला ने वह प्रोजेक्ट 1906 तक चलाया और फिर आर्थिक समस्याओं के कारण उनको वह टावर की प्रॉपर्टी को कर्ज चुकाने के लिए गिरवी रखना पड़ा। जो कि बाद में 1915 मे तोड़ दिया गया। और इस प्रॉपर्टी को एक नए ऑनर को बेच दिया गया।

1926 में टेस्ला ने यह भविष्यवाणी की थी कि जब पूरी दुनिया में वायरलेस टेक्नोलॉजी पूरी तरह से डिवेलप हो जाएगी तब हम सभी एक दूसरे से बात कर पाएंगे चाहे हम कितने भी दूर क्यों ना हो, और ऐसे उपकरण बन जाएंगे जिसको आप अपने पॉकेट में लेकर घूम सकेंगे। टेलीविजन से हम एक दूसरे को बहुत पास देख पाएंगे जैसा कि हम एक दूसरे के सामने खड़े हो।

टेस्ला टाइम मशीन पर भी काम कर रहे थे और वो कहते थे कि अपनी टाइम मशीन में वह एक ही समय में भूतकाल, वर्तमान और भविष्य देख सकते हैं। एक्स-रे, डेथ रे, एम आर आई, रेडियो वेव्स, रोबोटिक्स, लेजर, राडार और एयरशिप आदि के इन्वेंशन से निकोला टेस्ला का नाम जुड़ा। वे मानते थे कि जिंदगी में सबको freedom चाहिए, चाहे वह मर्द हो या औरत। इसीलिए उन्होंने कभी भी शादी नहीं की। उन्होंने जो भी कमाया था उसको अपनी कंपनी के employee में बांट दिया जिससे वह बहुत गरीब हो गए और उन्होंने अपने आखिरी दिन गरीबी में गुजारे। 7 जनवरी 1943 को वह 86 साल के थे तब न्यूयॉर्क होटल में हार्ट अटैक आने से उनकी मृत्यु हो गई।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें

धन्यवाद

यह भी पढ़ें

1. Nikola Tesla's biography in hindi || निकोला टेस्ला की पूरी कहानी (Part 1)

2. अगर आप मे यह लक्षण है तो निश्चित ही आप बुद्धिमान है|sign of genius person in hindi

3. मोहनजोदड़ो के इतिहास के बारे में रोचक जानकारी || Interesting facts about history of mohenjo-daro in hindi

4. दुनिया के 7 ऐसी रहस्यमई जगह जहां आप चाहकर भी नहीं जा सकते || 7 mysterious place of world where you can not go.

5. दुनिया के 10 सबसे बड़े और खतरनाक जंगल | top 10 largest and dangerous forest of the world

6. महान लोग महान कैसे बन जाते हैं।


Post a Comment

0 Comments